समस्याओं को लेकर बिजली कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन।

तावडू

तावडू,अंकित मंगला। ऑल हरियाणा पावर कारपोरेशन वर्कर यूनियन से जुड़े बिजली कर्मचारियों द्वारा मगंलवार को मांग दिवस के अवसर पर सोहना डीवीजन कार्यालय के प्रागण में दो घंटे का विरोध प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर विद्युत कर्मचारियों द्वारा लंबति मांगों को लेकर कार्यकारी अभियंता सोहना की अनुपस्थित के चलते एसडीओ के माध्यम से एसीएस पावर पंचकूला के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा गया। इस दौरान नारज कर्मचारियों की और से निगम प्रबंधन व सरकार के खिलाफ रोष प्रकट करते हुए नारेबाजी भी की गई। मिटिंग में सब यूनिट तावडू, बादशाहपुर, सोहना व सोहना रोड के सैंकड़ो कर्मचारियों ने भाग लिया। विरोध प्रदर्शन मिटिंग की अध्यक्षता यूनिट प्रधान विजयपाल व संचालन सब यूनिट प्रधान प्रेमपाल द्वारा किया गया। मिटिंग में तावडू बिजली बोर्ड के कर्मचारियों के साथ मारपीट का मामला भी यूनियन के शीर्ष नेताओं के समक्ष उठाया गया। जिन्होंने शीघ्र मामले को लेकर विभागीय उच्च अधिकारियों से बात कर आरोपियों के खिलाफ आवाज बुलंद करने का आशवाशन दिया।

सीसी के नेता रामबीर शर्मा व सर्कल सचिव बिजेन्द्र फौगाट ने कर्मचारियों को संबाधित करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार विद्युत अधिनियम पुर्नसंसोधन बिल लागू करने की योजना बना रही है, जिसका हम विरोध कर रहे हैं। इसका सीधा अर्थ यह है कि निजी कंपनियों को विद्युत कंपनियों में लाने की मंशा है। जिसे बिल्कुल बर्दास्त नहीं किया जायेगा। सोहना यूनिट के प्रधान विजय पाल व उप प्रधान मोहम्मद हासिम ने संयुक्त तौर पर बताया कि प्रदेश की भाजपा सरकार व बिजली निगम प्रबंधन बिजली कर्मचारियों की मांगों की अनदेखी कर उनके शौषण करने पर आमादा है। निजीकरण व ठेका प्रथा को बढ़ावा दिया जा रहा है। पुरानी पेंशन बहाली पर कोई गौर नहीं किया जा रहा है। अस्थाही कर्मचारियों को स्थाई करने व समान काम समान वेतन पर ढुलमुल रवैया जारी है। बिजली कर्मचारियों को जौखिम भत्ता नहीं दिया जा रहा है। जबकि विभाग में कार्यरत लाईनमैन रात दिन जान जौखिम में डालकर अपनी डयूटी कर रहे है। लेकिन सरकार व निगम पं्रबधन कर्मचारियों की मांगो के प्रति मूकदर्शक बनी हुई है। प्रधान प्रेमपाल व लालसिंह ने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि मौजूदा सरकार लगातर, किसान, मजदूर, कर्मचारी विरोधी नीतियों को बढ़ावा देते हुए पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने का काम कर रही है। पूर्व सर्कल सचिव ब्रहमप्रकाश, दीनू प्रधान, प्रधान रामनिवास, प्रधान रणवीर ने संयुक्त तौर पर कहा कि प्रदेश के सभी वर्गो द्वारा विरोध करने के बावजूद केन्द्र व हरियाणा सरकार तानाशाह रवैया अपनाए हुए है। खासकर बिजली कर्मचायिं व किसानों के प्रति नकारात्मक रवैया अपनाएं हुए है। जिसे बर्दास्त नहीं किया जायेगा। इस अवसर पर राजेश, खंजाची नरेन्द्र, प्रताप, साहबू, मोहम्मद उम्मर, जुनैद, सहसचिव मोहम्मद न्यूम, करतार, ऑडिर अब्बाश, जियाउल हक सहित भारी संख्या में कर्मचारी मौजूद रहे।

शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.