वैष्णों देवी यात्रा में संतों के प्रवचन का भी श्रद्धालुओं को मिल रहा लाभ

वैष्णों देवी यात्रा में संतों के प्रवचन का भी श्रद्धालुओं को मिल रहा लाभ

एनसीआर गुरुग्राम

गुरुग्राम। माता वैष्णों देवी के दर्शन के साथ-साथ यदि संतों का आशीर्वाद व उनका धार्मिक प्रवचन भी सुनने को मिल जाए तो श्रद्धालुओं की धार्मिक यात्रा का पुण्य और बढ़ जाता है। विधायक उमेश अग्रवाल के संयोजन में 31 मई से चल रही माता वैष्णों देवी दर्शन यात्रा के दौरान कटरा के विश्राम स्थल होटल प्रांगण में विद्धान संत-महात्मा अपने आशीर्वाद एवं प्रवचनों से श्रद्धालुओं को धन्य करने के लिए पधारते रहते हैं।

माता वैष्णों देवी के दर्शन से लौटे पटेलनगर के बनवारी लाल शर्मा व उनके साथियों का कहना है कि माता के दर्शन के बाद कटरा में विश्राम स्थल पर प्रसिद्ध संत शरणानंदजी महाराज के प्रवचन और आशीर्वाद से हम सब श्रद्धालु धन्य हो गए और यात्रा भी यादगार हो गई। अपने प्रवचनों में शरणानंदजी महाराज ने सभी श्रद्धालुओं को तीर्थयात्रा व वैष्णों माता के दर्शन के पुण्य फल के साथ ही धर्म के अनुरूप आचरण करने जीवन में हर स्थिति में बुराइयों से बचकर सतत सन्मार्ग पर चलने की प्रेरणा दी।

बनवारी लाल शर्मा के साथ गए डॉ. बीएल यादव और कटरा में श्रद्धालुओं की सेवा में जुटे डॉ. सुरेश चौहान का कहना है कि श्रद्धालुओं को धार्मिक यात्रा के दौरान संतों का भी आशीर्वाद मिल जाए तो यात्रा पुण्य स्वतही बढ़ जाता है। उन्होंने कहा कि स्वामी शरणानंदजी ने जिस सरल तरीके से मानव जीवन को सार्थक बनाने का मार्ग दिखाया, उससे श्रद्धालुओं को काफी प्रेरणा मिली। स्वामी शरणानंदजी महाराज ने विधायक उमेश अग्रवाल को गुरुग्राम का श्रवण कुमार बताते हुए कहा कि श्रवण कुमार ने अपने नेत्रहीन माता-पिता की इच्छा का सम्मान करते हुए उन्हें तीर्थयात्रा कराई थी और उनका जीवन धन्य हो गया था। विधायक उमेश अग्रवाल ने गुरुग्राम के 30 हजार से भी अधिक लोगों को वैष्णों माता के दर्शन कराने और इससे पहले आठ हजार लोगों को कुंभ स्नान कराने का जो पुण्य कार्य किया, उसका धर्म लाभ तो उन्हें मिलेगा ही।



कटरा में की गई व्यवस्था में सुबह-सायं की पूजा अनिवार्य रूप से शामिल है। माता वैष्णों देवी के दर्शन करने के बाद गुरुग्राम वापस रवाना होने से पहले भागवताचार्य पंडित नरेंद्र कृष्ण शास्त्री प्रत्येक श्रद्धालु से पूजा कराते हैं और उन्हें माता वैष्णों देवी की एक फोटो, एक रुद्राक्ष की माला और प्रसाद भेंट करते हैं। तीर्थयात्रा के दौरान वैष्णों माता की गोदी में स्थित कटरा में इन सभी धार्मिक क्रिया-कलाप के पूर्ण होने से श्रद्धालु भी बेहद प्रसन्न नज़र आते हैं।

शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.