गुरुग्राम के विभिन्न क्षेत्रों में सड़कों की बदहाल स्थिति।

वर्षों से कई सड़़कों के गड्ढे नहीं भर पाया निगम, अफसरों पर हो कार्रवाई: अभय जैन

एनसीआर गुरुग्राम

-मुख्यमंत्री, मंत्री समेत बड़े नेता अक्सर शहर में होते हैं, फिर भी हाल बेहाल
-शहर की समस्याओं पर ध्यान नहीं, दावे बड़े-बड़े करता है निगम, सरकार
-शहर का दौरा करके आप नेता ने समस्याओं का ब्यौरा किया तैयार

गुरुग्राम। जिस शहर में अक्सर सरकार रहती हो उसकी हालत खराब नहीं होनी चाहिए। कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। गुरुग्राम का इस मामले में दुर्भागय है कि यहां औसतन हर सप्ताह सरकार आती है, फिर भी यहां समस्याओं का अम्बार है। यहां होने वाले विकास के काम अधिकारियों की लापरवाही और अनदेखी की भेंट चढ़े हुए हैं। यह कहना है आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता अभय जैन एडवोकेट का।

अभय जैन ने कहा कि गुरुग्राम के डीएलएफ क्षेत्र को दिखाकर सरकार विदेशी कंपनियों को हरियाणा में पूंजी निवेश के लिए आकर्षिक करती है। सरकार की नजर में शायद डीएलएफ ही गुरुग्राम है, बाकी के हिस्से से कोई सरोकार नहीं है। उन्होंने पुराने गुरुग्राम में समस्याओं पर फोकस करते हुए कहा कि यहां कई सड़कों पर कई-कई साल से गड्ढे हैं, लेकिन इन पर पैच वर्क करने की भी जहमत नहीं उठाई गई है। कई जगह काम अधूरे छोड़ दिए गए हैं।

अभय जैन के मुताबिक सिविल लाइन क्षेत्र में विधायक का कार्यालय है। न्यायाधीशों के आवास, गुरुग्राम की मेयर का आवास, हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के सदस्य का आवास, मंडलायुक्त, आयुक्त, पुलिस आयुक्त के आवास हैं। गत माह विधायक सुधीर सिंगला के पिता स्वर्गीय सीता राम सिंगला के नाम से बने चौक से लेकर सोहना अड्डा, ऑफिसर्स कालोनी, सिविल लाइन में सड़क के दोनों ओर पुराने डिवाइडर को हटाकर नए डिवाइडर बनाने का काम शुरू किया गया। यहां डिवाइडर तो लगा दिया, लेकिन बीच की जगह पर पुराना मलबा डाल दिया। ना तो उसकी लेवलिंग की गई और ना ही मलबा हटाया गया।

इसके अलावा सोहना अड्डा, श्री सिद्धेश्वर चौक पर सड़क किनारे कई साल से गहरे गड्ढे हैं। ओल्ड रेलवे रोड पर अर्जुन नगर की गली के सामने सड़क के बीच में गहरा गड्ढा है। सेक्टर-10 नागरिक अस्पताल से पहले सेक्टर-10 की तरफ की सड़क भी वर्षों से टूटी पड़ी है। इस सड़क किनारे अस्पताल की दीवार के साथ कुछ दिन पहले पानी की निकाली के लिए नाले का निर्माण शुरू किया गया, जिसे अधूरा छोड़ दिया गया है। अब वहां पर दिनभर धूल उड़ती रहती है। इसी के साथ में ही अस्पताल परिसर में टीबी की ओपीडी लगती है। यह धूल सीधे तौर पर मरीजों के लिए भी हानिकारक है। सेक्टर-10 चौक से लेकर हीरो होंडा चौक के बीच वर्षों तक भाजपा का कार्यालय भी रहा, लेकिन कई साल से इस सड़क में गहरे गड्ढे हैं। यहां भी पैच वर्क तक नहीं किया गया है।

उन्होंने बताया कि बसई रोड पर राम नगर के सामने शिव मूर्ति चौक से ठीक पहले सड़क के बीच सीवरेज का काम किया गया था। उस समय उखाड़ी गई सड़क को अभी तक नहीं बनाया गया है। इससे थोड़ा आगे भी करीब चार महीने पहले तोड़ी सड़क में अभी भी गड्ढे हैं। यही हाल सेक्टर-9 का भी है। शहर के भीतर-बाहरी क्षेत्रों में सड़कों का यह हाल है तो नगर निगम समेत यहां काम करने वाला तीन स्तरीय प्रशासन आखिर किस तरह से ऑल इज वैल के दावे करता है। दिखावे को अधिकारी फिल्ड में दौरा करते हैं, लेकिन काम नहीं हो रहा।


यह भी पढ़े – … अब गुरूग्राम विश्व स्तरीय आइकॉनिक सिटी बनेगी: सीएम खट्टर

हमारे इंस्टाग्राम पेज से जुड़े – क्लिक करे।

शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.