पटौदी

…पटौदी से निकली बात, तो टेबलेट पहुंचे हरियाणा में छात्रों के हाथ

देश-विदेश पटौदी

एमएलए एडवोकेट जरावता बोले पटौदी में कॉलेज मेरा ड्रीम प्रोजेक्ट पूरा

जीवन में सफलता के लिए युवा छात्र वर्ग अपना लक्ष्य अवश्य तय करें

आज देश में बेंगलुरु के बाद गुरुग्राम की पहचान बन गई आईटी हब

फतह सिंह उजाला

गुडगाँव टाइम्स न्यूज़
पटौदी । 
इस बात पर विश्वास करना किसी के लिए भी शायद ही संभव हो, लेकिन यह बात पूरी तरह से सत्य है । पटौदी से जो बात निकली उसी बात का ही परिणाम है कि हरियाणा प्रदेश के सरकारी स्कूलों के कक्षा दसवीं से लेकर 12वीं तक के छात्रों के हाथ में टेबलेट पहुंच गए हैं । करीब 1 वर्ष पहले पटौदी के एमएलए एडवोकेट सत्य प्रकाश जरावता ने अपने कार्यालय में पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा था कि प्रदेश में शिक्षा की ऐसी क्रांति और व्यवस्था होनी चाहिए, जिससे कि युवा छात्र वर्ग तेजी से बदलती शिक्षा प्रणाली को देखते हुए किसी भी नजरिए से प्राइवेट और निजी शिक्षण संस्थानों के मुकाबले पीछे रह जाए। इस मुद्दे को अनुसूचित वर्ग की कमेटी की बैठक में कमेटी के चेयरमैन ईश्वर सिंह के समक्ष उठाया और उनकी इस मांग का कमेटी के सभी सदस्यों के द्वारा समर्थन करते हुए हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर सहित शिक्षा विभाग व अन्य संबंधित विभागों को इस दिशा में ठोस कदम उठाने के लिए अनुरोध किया ।

ड्रीम प्रोजेक्ट, पटौदी में डिग्री कॉलेज मंजूर
इसके बाद में वह दिन भी आ गया जब हरियाणा प्रदेश के सरकारी स्कूलों के कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों को टेबलेट मिल गए । छात्रों को टेबलेट वितरण किए जाने के मौके पर गवर्नमेंट गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल पटौदी के परिसर में आयोजित समारोह में एमएलए एडवोकेट सत्य प्रकाश जरावता ने कहा कि मेरा ड्रीम प्रोजेक्ट पटौदी में डिग्री कॉलेज मंजूर होना पूरा हो गया है । इसके साथ ही दसवीं से लेकर कक्षा बारहवीं तक पढ़ने वाले सभी छात्रों को टेबलेट में प्रदान किए गए हैं, यह कार्य भी उनका ही एक सपना था । यह दोनों कार्य का श्री गणेश शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार सहित बिना किसी भेदभाव के समान विकास कार्य को प्राथमिकता प्रदान कर रहे प्रदेश के सीएम मनोहर लाल खट्टर के जन्मदिन पर किया गया । सही मायने में सीएम मनोहर लाल खट्टर के द्वारा अपने जन्मदिन पर पूरे प्रदेश के युवा छात्र वर्ग और विशेष रूप से पटौदी क्षेत्र को डिग्री कॉलेज का गिफ्ट सहित एक प्रकार से सरप्राइस गिफ्ट दिया गया है ।

और दहीबड़ा लेकर मुंह में रख लिया
इससे पहले यहां स्कूल परिसर में आने पर एमएलए एडवोकेट जरावता ने एनएसएस की छात्राओं के द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए गहरी रुचि दिखाई । इसी प्रदर्शनी में छात्राओं के द्वारा अपने हाथों से बनाई गई खाद्य सामग्री को देखकर वह अपने आप को रोक नहीं सके और एक दही बड़ा उठाकर छात्राओं से कहा क्या मैं इसे खा लूं ? और फिर मुंह में रख लिया। कार्यक्रम के आरंभ में एमएलए जरावता ने स्कूल परिसर में पहुंचते ही सबसे पहले सरस्वती प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित कर पुष्प अर्पित किए। इस मौके पर उप जिला शिक्षा अधिकारी कल्पना रंगा, मेजबान स्कूल के प्रिंसिपल अनीता अरोड़ा, खंड शिक्षा अधिकारी डॉ धर्मपाल,  धर्मवीर, रमेश ठाकरान, पूनम राठी सहित अन्य अध्यापक वर्ग भी मौजूद रहे। इसके उपरांत छात्राओं ने भारतीय परंपरा के मुताबिक तिलक लगाकर मुख्य अतिथि एमएलए जरावता का अभिनंदन किया ।

कामयाबी के लिए लक्ष्य तय कर शिक्षा ग्रहण करें
यहां छात्राओं को संबोधित करते हुए एमएलए एडवोकेट सत्य प्रकाश जरावता ने कहा छात्र वर्ग को जीवन में कामयाबी के लिए अपना लक्ष्य शिक्षा ग्रहण करते हुए ही निर्धारित कर लेना चाहिए । जब तक सामने लक्ष्य नहीं होगा तब तक कामयाबी मिलना किसी के लिए भी आसान नहीं है । जीवन में कुछ करने का जब लक्ष्य तय कर लिया जाएगा तो यह बात भी तय है कि सफलता निश्चित रूप से कदम चूमेगी। उन्होंने कहा परिणाम चाहे जो भी हो, जीवन में निरंतर आगे बढ़ते रहना चाहिए । एक न एक दिन मनचाही मंजिल अवश्य मिलेगी । लेकिन इस कार्य के लिए दृढ़ निश्चय और संकल्प का होना भी जरूरी है । उन्होंने कहा कि पटौदी में डिग्री कॉलेज का बनाया जाना मेरे जीवन का ड्रीम प्रोजेक्ट था और यह ड्रीम प्रोजेक्ट भी सीएम मनोहर लाल खट्टर के जन्मदिन के मौके पर पूरा हो गया । दूसरे शब्दों में सीएम के द्वारा पाटोदी के युवा वर्ग को डिग्री कॉलेज का गिफ्ट दिया गया है । उन्होंने कहा इस बात के प्रयास किए जाएंगे की 1 वर्ष के अंदर-अंदर डिग्री कॉलेज का निर्माण आरंभ हो जाए और इसके साथ ही इस प्रकार की व्यवस्था पर भी गंभीरता से काम किया जाएगा कि जल्द से जल्द डिग्री कॉलेज के लिए एडमिशन भी आरंभ हो जाएं। भले ही कॉलेज के छात्रों की पढ़ाई के लिए किसी प्राइवेट भवन में ही क्यों न व्यवस्था करनी पड़े। उन्होंने कहा अभी तक देश में बंगलुरु की पहचान आईटी हब के रूप में थी। लेकिन अब आज के दौर में गुरुग्राम की पहचान आईटी हब के रूप में बन चुकी है । आने वाले समय में सरकारी स्कूलों के छात्र और छात्राएं निश्चित ही प्राइवेट स्कूलों के मुकाबले अपनी योग्यता और कुशलता के दम पर गांव समाज शहर और प्रदेश का देश भर में नाम रोशन करेंगे ।

टेबलेट देने वाला हरियाणा पहला राज्य
एमएलए जरावता ने कहा हरियाणा देश में पहला ऐसा राज्य है जहां सरकारी स्कूलों में छात्रों को बिना किसी भेदभाव के टेबलेट प्रदान किए गए हैं । इस मौके पर खंड शिक्षा अधिकारी डॉक्टर धर्मपाल ने बताया पटौदी क्षेत्र में कक्षा दसवीं के 123 और कक्षा बारहवीं के 218 छात्र छात्राओं को टेबलेट उपलब्ध करवाए गए हैं, वही 17 अध्यापकों को भी यह टेबलेट दिए गए हैं । 3 वर्ष के लिए प्रतिदिन जीबी डाटा उपलब्ध होगा और जो भी संबंधित पाठ्यक्रम हैं वह सब टेबलेट के सॉफ्टवेयर में उपलब्ध रहेगा। इस मौके पर पटौदी के एसडीएम प्रदीप कुमार में छात्राओं का आह्वान किया कि अपने उज्जवल और बेहतर भविष्य के लिए उच्चतर शिक्षा को प्राथमिकता प्रदान करे । सरकार के द्वारा महिला शिक्षा के लिए देश में सबसे अधिक सुविधाएं हरियाणा में ही उपलब्ध करवाई जा रही है । इस मौके पर पटौदी नगर पालिका के चेयरमैन चंद्रभान सहगल , वाइस चेयरमैन जर्मन सैनी , पूर्व वाइस चेयरमैन राधेश्याम मक्कड़, पालिका पार्षद अनिल, प्रवीण मानेसर, अमित पहलवान , मनोज जनौला, एडवोकेट प्रदीप जनौला, पंकज परमार, चौधरी दयाराम, सरपंच सत्तन , राममूर्ति गोठवाल, अध्यापक वर्ग में में श्रीमती रितु कटारिया, पूनम राठी, सहित अन्य लोग भी मौजूद रहे । आयोजन के समापन पर एमएलए एडवोकेट सत्य प्रकाश जरावता व अन्य अतिथियों को मेजबान स्कूल प्रबंधन कमेटी की तरफ से पौधे समृति चिन्ह के रूप में भेंट किए गए।


यह भी पढ़े – सोने की चिड़िया भारत को अब सोने का शेर बनाना है: अरविंद शर्मा

हमारे इंस्टाग्राम पेज से जुड़े – क्लिक करे।

शेयर करे

2 thoughts on “…पटौदी से निकली बात, तो टेबलेट पहुंचे हरियाणा में छात्रों के हाथ

Leave a Reply

Your email address will not be published.